Wednesday, April 10, 2019

Essay in hindi on जीवन की अभिलाषा | Goal of Life पे हिंदी में निबंध (लेख ) Nibandh lekh

प्रत्येक मनुष्य के पास कोई ऐसी महत्वाकांक्षा या अभिलाषा होता है जिसे वह बचपन से करने का शौक रखता है I या यूं कहे कि उस सपने को जीना चाहता है जिसके लिए वह रोज उस कार्य या लक्ष्य  को  सोचते ही खुश हो जाता है उसे ही अभिलाषा कहते हैंI  बिना अभिलाषा के मनुष्य बिल्कुल वैसा होगा जैसे कि एक सुंदर जलयान बिना जल के, अगर इंसान के पास कोई अभिलाषा ना हो तो वह कभी भी कठिन परिश्रम नहीं कर सकता वह अपनी जिंदगी आराम तरीके से अर्थात उसी तरीके से काटेगा जिस प्रकार चिड़िया और जंगली जानवर जीते हैंI  उसी प्रकार अभिलाषा ना हो तो मनुष्य का भी जिंदगी पशुओं और बेजुबान जानवरों की तरह होगा जो केवल भोजन की तलाश करते रहेगाI 

Essay in hindi on गंगा नदी | River Ganga पे हिंदी में निबंध (लेख ) Nibandh lekh

गंगा नदी पूरे विश्व के सबसे पवित्र और अध्यात्मिक नदियों में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है I जिसे भारत में देवी देवताओं के रूप में पूज्नीय माना जाता है उन्हें देवी और माता का भी संज्ञा दिया गया हैI  गंगा नदी में स्नान करना पूरे विश्व में पवित्र आध्यात्मिकता के रूप में प्रचलित हैI   गंगा नदी अपने  अपने भव्यता इतिहास के गौरव में अनोखा नाम अंकित किया हैI गंगा नदी भारत के सबसे बड़ा नदी भी है जो हिमालय पर्वत से निकलकर लगभग 200 मील की दूरी पर से  पहाड़ी क्षेत्रों से बहती हुई हरिद्वार में आकर भूमिगत होकर गिरती हैI  इसलिए हरिद्वार को भी पवित्र तीर्थ स्थलों में से एक  हिंदुओं के लिए माना गया है जहां हजारों, लाखों श्रद्धालु प्रतिदिन गंगा में डुबकी लगाने दूर-दराज देश- विदेश से आते हैं और अपने गलती और अनजाने में हुई कोई भूल या चुक  जो अनैतिक कार्य के रूप में हो उसके लिए क्षमा प्रार्थना करते हैं I कहा जाता है इस पवित्र नदी में डुबकी लगाने मात्र सारे पाप धूल जाते हैं I गंगा नदी के किनारे बसे प्रमुख  शहरें जो कि तीर्थस्थल के रूप में प्रसिद्ध है   वाराणसी ,प्रयागराज ,सिरोन इत्यादि हैं I  जहां से गंगा नदी गुजरती है वहां पवित्र और प्रसिद्ध तीर्थ स्थल   के रूप में पूरे विश्व में प्रचलित हो जाता है I