Sunday, February 10, 2019

Essay in hindi on मेला | Fair Festival पे हिंदी में निबंध (लेख ) Nibandh lekh

                         
एक वैसे स्थान जहां काफी संख्या में लोग एकत्रित होते हैं या वह स्थान जहां विभिन्न प्रकार की दुकाने जो किसी उद्देश्य अथवा पर्व के अवसर पर एक ही जगह सजाई जाती है उन्हें मेला कहते हैं I मेला का अर्थ है विविधता से भरी रंग- बिरंगी चूड़ियां व  स्वादिष्ट से भरपूर मिठाइयां , आकर्षक खिलौने आदि के साथ -साथ झूले- चरखे  आदि  एक ही जगह एकत्रित होते हैं मेला शहरों से ज्यादा गांव में काफी आकर्षक व उत्साह देखने को मिलती है क्योंकि शहर में संसाधनों की आपूर्ति व हर तरह के दुकानें प्रतिदिन सजी  रहती है परंतु गांव में इसके विपरीत वैसे मौके पर मेला का आयोजन होता है जब कोई पर्व  या किसी महात्मा व साधु- संतों के जन्म या पुण्यतिथि हो I मेरे गांव में दशहरा के अवसर पर मेला का आयोजन होता है जिसमें हर वर्ग के लोग व हर उम्र के लोग आस-पास के क्षेत्रों  के व्यवसायी व ग्रामीण लोग सभी शामिल होते हैंI यह मेला दशहरा  के तत्वधान में हमेशा दुर्गा मंदिर के समीप लगाया जाता है उस समय हमारी गांव की भव्यता व चर्चा पूरे क्षेत्रों में सबसे ज्यादा होती है ग्रामीणों के संपूर्ण प्रयास से हमेशा दशहरे के दिन आकर्षक मूर्तियां  व सुंदर सजावट ना केवल मंदिर के प्रांगण में देखने को मिलती है बल्कि नवरात्र के नौ दिन पूरी गांव रौशनी  से जगमग रहती है परंतु मेले का आयोजन दशहरा के जिस दिन रावण जलाया जाता है उस दिन होता है I