Friday, January 18, 2019

Essay in hindi on मातृभूमि | Motherland पे हिंदी में निबंध (लेख ) Nibandh lekh

             
 मैं अपने मातृभूमि से बहुत प्यार करता हूं, मातृभूमि का आशय यह है कि जो जिस देश या स्थान पर जन्म लेता है वही उसकी जन्मभूमि या मातृभूमि कहलाता है I  मुझे अपने देश के नाम लेते हि  गर्व के साथ समर्पण व अनुशासन की भावना जागृत होती है I दुनिया के सर्वश्रेष्ठ देशों में से एक प्राकृतिक सुंदरता व भव्यता के कारण मुझे मेरी मातृभूमि से विशेष  लगाव है और गर्व भी  कि मैं एक भारतीय हूंI मेरा जन्म “भारत” देश में हुआI  इस देश का विशेषता का वर्णन करना  शब्दों में संभव नहीं है I भारत हर क्षेत्रों  में दुनिया के लिए प्रेरणीय  है I सभी लोगों को अभिलाषा  होती है, एक बार हमारी मातृभूमि पर आने का सौभाग्य प्राप्त होI प्राकृतिक सुंदरता, संस्कृति अलग-अलग सभ्यता से भरपूर है हमारा देश ,उसके बावजूद सभी लोग एक ही रंग में रंगे हैंI  संस्कृति भले ही अलग है भाषाएं अलग है ,लेकिन लोगों के मन में एक ही एहसास है भारतीय होने पर गर्वI  हमारे देश को लगभग 3 भागों में विभाजित किया जा सकता है उत्तरी पहाड़ी क्षेत्र, उपजाऊ मैदान और दक्कन (दक्षिणी)I  उत्तरी क्षेत्र में हिमालय और उसके विभिन्न शाखाओं के लिए जाना जाता है जो हमारे लिए काफी उपयोगी है , कृषि प्रधान देशों में सर्वश्रेष्ठ भारत में फसलें उपजाऊ का प्रमुख कारण हिमालय एवं उनके अन्य शाखाओं से ही  संभव है, जो प्राकृतिक सौंदर्य बढ़ाने के साथ-साथ इनका जलवायु ठंड होने के कारण पर्यटकों को तो  आकर्षित करता ही है, साथ ही साथ प्रमुख नदियां- गंगा, यमुना ,ब्रह्मपुत्र आदि जैसे नदियां यहीं से होकर गुजरती हैI  जिनके बहाव के कारण उपजाऊ मिट्टी खेत में पहुंचती है इसलिए इन्हें भारत के समृद्धि भी बोल  सकते हैं I यहां की जलवायु शुद्ध वातावरण के कारण स्वास्थ्य के लिए सबसे अधिक लाभदायक हैI हिमालय का सर्वोच्च शिखर माउंट एवरेस्ट विश्व का सर्वोच्च शिखर भी हैI  यह हमारे अभिवावक के तौर पर भी जाने जाते हैंI