Tuesday, January 15, 2019

Essay in hindi on विद्यार्थी एवं परीक्षा | Student & Examination पे हिंदी में निबंध (लेख ) Nibandh lekh

                    
परीक्षा हमेशा विद्यार्थियों के मन में भय पैदा करती है ,चाहे वे मेघावी छात्र हों या औसत मगर सभी लोग के मन में एक ही अभिलाषा जागृत होती है कि किसी भी तरीके से परीक्षा के परिणाम बढ़िया आये या दूसरे शब्दों में यह कहे कि विद्यार्थियों के लिए एक जांच है परीक्षा, जो उनके परिपक्वता और आत्मविश्वास को जोड़ता है, जिससे खुद की कमियां, त्रुटियों का आकलन कर  निरंतर सुधार करते हैं I जैसे-जैसे परीक्षाएं नजदीक आने लगती है वैसे -वैसे विद्यार्थियों की मेहनत और अधिक हो जाती है उनको हमेशा डर परीक्षा की सताती है वर्तमान में भी जाकर भविष्य के बारे में सोचने लगते हैं ,जिससे उनका वर्तमान भी काफी प्रभावित होने लगता है

Essay in hindi on चुनाव (निर्वाचन) Election पे हिंदी में निबंध (लेख ) Nibandh lekh

                         
चुनाव इन दिनों विशेष मायने रखता है ,किसी भी लोकतांत्रिक देश में जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधि और सरकार का  देश पर शासन होता  है I प्रत्येक ऐसे नागरिक जो 18 वर्ष से ऊपर हो स्वतंत्रतापूर्वक अपनी इच्छानुसार वोट देने का अधिकार है, अर्थात दूसरे शब्दों में हम यह कह सकते हैं कि देश के न्यायपूर्ण संचालन का बागडोर देना जनता पर निर्भर करती हैI  इसलिए सरकार जनता के प्रति जवाबदेह हैI  देश में चुनाव की परंपरा प्राचीन समय से ही चला आ रहा है ,जब राजशाही शासन व्यवस्था था तब भी सम्राट, राजाओं व मंत्रियों द्वारा अपना उत्तराधिकारी का चुनाव करते थे, जिसमें जनता की कोई भागीदारी नहीं होती थीI  राष्ट्रीय रूप से  भारत में सर्वप्रथम चुनाव सफलतापूर्वक लॉर्ड  लिनलिथगो  के कार्यकाल में  हुआ थाI स्वतंत्र और लोकतांत्रिक देश की प्रथम पहचान स्वतंत्र रूप से वोट अर्थात मत देने का अधिकार है ,भारत एक ऐसा देश है जहां जनता को शासन संबंधी कार्य में भाग लेने का अधिकार दिया गया हैI देश में निष्पक्ष रुप से चुनाव( निर्वाचन) और जनता के हाथ में मौलिक अधिकार के साथ -साथ मूलभूत सुविधाएं प्रदान करना भारत के लोकतंत्रात्मक  राष्ट्र की पहचान हैI  भारतीय संविधान सभा का निर्माण कैबिनेट मिशन के संस्तुतियों के आधार पर किया गया था, मिशन योजना के तहत