Monday, June 24, 2019

Essay in Hindi on सोशल मीडिया | Social Media पे हिंदी में निबंध 500 words

आज हम उस समय और युग में है जहां सूचना सिर्फ एक बटन दबाने पर मिल जाती है, इनके कारण हम अपने चारों ओर की जानकारी से अवगत हो जाते हैं, सोशल मीडिया वह जगह है जहां हमें किसी भी चीज के बारे में जानने, पढ़ने, समझने और बोलने का मौका मिलता है, सोशल मीडिया उन बड़े तत्वों में से एक है जिसके साथ हम जुड़े हुए हैं और जिसे हम अनदेखा नहीं कर सकते । 
सोशल मीडिया मूल रूप से कंप्यूटर या किसी भी मानव संचार या जानकारी के आदान-प्रदान करने से जुड़ा हुआ है, जो कंप्यूटर टेबलेट या मोबाइल के माध्यम से प्राप्त की जाती है,  ऐसी कई और वेबसाइट और एप्स भी हैं जो इसे संभव बनाते हैं, सोशल मीडिया और संचार का सबसे बड़ा माध्यम बन रहा है और तेजी से लोकप्रियता प्राप्त कर रहा है।
 सोशल मीडिया आपके विचारों, सामग्री, सूचना और समाचार इत्यादि को बहुत तेजी से एक दूसरे को साझा करने में सक्षम बनाता है।
पिछले कुछ वर्षों में सोशल मीडिया के उपयोग में अप्रत्याशित रूप से वृद्धि हुई है तथा इसमें दुनिया भर के लाखों उपयोगकर्ताओं को एक साथ जोड़ लिया है।

सोशल मीडिया वेबसाइटों अनुप्रयोगों और अन्य प्लेटफॉर्मो का संग्रह है जो हमें जानकारियां का आदान प्रदान करने तथा हमें सोशल नेटवर्किंग में भाग लेने में मदद करता है।
सोशल मीडिया ब्लॉगिंग और चित्रों को साझा करने तक ही सीमित नहीं है बल्कि यह हमें बहुत मजबूत उपकरण भी प्रदान करता है, ऐसा इसलिए क्योंकि सोशल मीडिया का प्रभाव बहुत अधिक और दूर तक पहुंच रहा है और यह किसी की छवि को बना या बिगाड़ भी सकता है।

लेकिन सोशल मीडिया आज विवाद का विषय भी बन गया है, कुछ लोग इसे वरदान समझते हैं तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इसे एक अभिशाप मानते हैं, लोग ज्यादातर यह महसूस करते हैं कि सोशल मीडिया ने तेज गति के साथ मानव और प्रक्रियाओं को नष्ट कर आधुनिक मानव संबंधों में परिवर्तन कर दिया है, लेकिन कुछ लोग इसे वरदान मानते हैं क्योंकि इसके कारण वह दुनिया के हर कोने से जुड़े हुए महसूस करते हैं और जिसके द्वारा वह दूर बसे अपने प्रिय जनों से बात करते हैं तथा जागरूकता फैला सकते हैं और सुरक्षा चेतावनी भी भेज सकते हैं।

ऐसा बहुत कुछ है जो सोशल मीडिया के माध्यम से किया जा सकता है, लेकिन यह एक अविश्वसनीय तथ्य है कि सोशल मीडिया की मौजूदगी ने हमारे जीवन को सुविधाजनक आसान और बहुत तेज बना दिया है।

सोशल मीडिया के बिना हमारी जीवन की कल्पना करना मुश्किल है, परंतु इसके अत्यधिक उपयोग के वजह से हमें इसकी कीमत भी चुकानी पड़ती है, समाज पर सोशल मीडिया के प्रभाव के बारे में बहुत सारे तर्क वितर्क प्रस्तुत किए गए हैं।
कुछ लोगों का मानना है कि एक वरदान या अभिशाप है।

कई चिकित्सकों का मानना है कि सोशल मीडिया लोगों में निराशा और चिंता पैदा करने वाला एक कारण है,  यह बच्चों के खराब मानसिक विकास का भी कारण बनते जा रहा है, सोशल मीडिया का अत्यधिक उपयोग निंद्रा को प्रभावित करता है।

सोशल मीडिया के उपभोक्ताओं में शामिल होने से पहले ध्यान से उसके सकारात्मक और नकारात्मक पहलुओं की जांच कर लेनी चाहिए, यदि सोशल मीडिया का सही तरीके से उपयोग किया जाए तो यह मानव जाति के लिए वरदान साबित हो सकता है।

दुनिया भर में लाखों लोग हैं जो कि सोशल मीडिया का उपयोग प्रतिदिन करते हैं, इसके सकारात्मक और नकारात्मक पहलुओं को इसमें बहुत सारी ऐसी चीजें हैं जो हमें सहायता प्रदान करने में महत्वपूर्ण है तो कुछ चीजें ऐसी भी है जो हमें नुकसान पहुंचा सकती है।

No comments:

Post a Comment